उपायुक्त ने कोरोना लॉकडाउन में जन कल्याण कार्यों के लिए संस्थाओं/ समाजसेवियों को किया सम्मानित

0
38

आज दिनांक 18 जून 2020 को समाहरणालय के ब्लॉक ए स्थित सभागार में उपायुक्त-सह-जिला दंडाधिकारी डॉ शांतनु कुमार अग्रहरि की मौजूदगी में लॉकडाउन के दौरान जनकल्याण कार्यों को करने के लिए जिले के संस्थाओं तथा व्यक्ति विशेष को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

मौके पर मौजूद उपायुक्त ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के कारण उत्पन्न लॉकडाउन के दौरान विभिन्न संस्थाओं तथा समाजसेवी व्यक्तियों के द्वारा किये गए जन कल्याणकारी कार्यों से लोगों को काफी मदद मिली। यह पलामू के रचनात्मक समाज की सक्रिय भूमिका का एक उदाहरण है। उपायुक्त ने बताया कि पलामू में लॉकडाउन में बाहर फंसे प्रवासी श्रमिकों का विभिन्न माध्यमों से आगमन निरंतर जारी रहा। जिले में सिर्फ पलामू के श्रमिक ही नहीं बल्कि राज्य के अन्य जिलों के बीच श्रमिक विभिन्न माध्यमों से पहुंच रहे थे। उनके लिए समुचित प्रबंध करना चुनौती थी। इस दौरान विभिन्न संस्थाओं तथा समाजसेवी व्यक्तियों के साथ समन्वयन कर हमने चुनौती का सफल ढंग से सामना किया। इसके अलावा जिले भर में अत्यंत जरूरतमंद लोगों के बीच आपदा मित्र कोषांग के जरिये  सूखा राशन पहुंचाने के साथ-साथ रेडीमेड खाना भी आप सबों के सहयोग से पहुंचाया गया। उन्होंने विभिन्न संगठनों को उनके एक्टिव पार्टिसिपेशन के लिए धन्यवाद दिया। इसके अलावा वर्तमान में संस्थाओं द्वारा जरूरतमंद महिलाओं के बीच सैनिटरी पैड्स देने के लिए भी उपायुक्त ने सभी को धन्यवाद दिया।

*मीडिया की रही अहम भूमिका: उपायुक्त*

सम्मान समारोह में उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी डॉ शांतनु कुमार अग्रहरि ने मीडिया के कार्यों के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मीडिया बंधुओं से सबसे ज्यादा सहयोग मिला, जिससे सही तथा सटीक जानकारी लोगों तक पहुंचाने का उद्देश्य पूरा करना सम्भव हो सका। इसके लिए उन्होंने पलामू के मीडिया कर्मियों को साधुवाद दिया।

*मास्क और सैनिटाइजर घर घर तक कराया उपलब्ध: उपायुक्त*

उपायुक्त ने बताया कि जिले में कोरोना महामारी को लेकर किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए जिला प्रशासन ने  शुरू से ही अपनी कमर कस ली थी। जिले में शुरुआत के 3 से 4 दिनों में मास्क और सैनिटाइजर की कमी को पूरा कर लिया गया। मास्क तथा सैनिटाइजर को प्रत्येक पंचायत तक उपलब्ध कराया गया ताकि जिले के अंतिम व्यक्ति तक इसका लाभ मिल सके। शहर में भी रेड क्रॉस सोसाइटी के जरिए घर-घर तक सैनिटाइजर की होम डिलीवरी  की गई।

*क्वारंटाइन केंद्रों में भी श्रमिकों को मिली उचित व्यवस्था*

उपायुक्त ने बताया कि जिले भर में बनाए गए क्वारंटाइन केंद्रों में रेड जॉन से आए हुए श्रमिकों को रखा गया। पंचायत भवन में बनाए गए क्वॉरेंटाइन केंद्रों में श्रमिकों को उचित सुविधा प्रदान की गई। इसके अलावा उनकी सुरक्षा के लिए होमगार्ड के जवानों को भी लगाया गया था।

मौके पर मौजूद नजारत उप समाहर्ता शैलेश कुमार सिंह ने कहा कि उपायुक्त के नेतृत्व में तथा विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान जिले भर में जन कल्याणकारी कार्यों को किया गया है। विभिन्न संस्थाओं तथा समाज सेवी व्यक्तियों ने अपने तन मन और धन से सहयोग किया है। अब तक पाई गई उपलब्धि से यह साबित हो गया है कि पलामू किसी भी आपदा से लड़ने में सक्षम है।

समाजसेवी इंद्रजीत सिंह डिंपल ने आपदा मित्र कोषांग के तरफ से पलामू उपायुक्त डॉ शांतनु कुमार अग्रहरी सहित पूरे जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया तथा कहा कि आगे भी जरूरत पड़ने पर जिले में मौजूद विभिन्न संस्था तथा समाजसेवी व्यक्ति जिला प्रशासन की मदद को आगे आते रहेंगे। उन्होंने कहा कि उपायुक्त की कुशल नेतृत्व में पलामू जिला कोरोना मुक्ति की कगार पर खड़ा है।

सम्मान समारोह में *कुल 47 संस्थाओं तथा समाजसेवी व्यक्तियों को प्रशस्ति पत्र/सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया।* उत्पाद अधीक्षक संजय श्रीवास्तव ने समारोह मैं मौजूद समाज सेवी संस्था के प्रतिनिधियों तथा समाजसेवी व्यक्तियों को उनके द्वारा किए गए पुनीत कार्यों के लिए धन्यवाद दिया।

*=======================*

*कोविड-19 से संबंधित समस्या पर यहां करें संपर्कः-*

*कोरोना वायरस टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर-1950*

*जिला नियंत्रण कक्ष हेल्पलाइन नंबरः-06562-222077*

*डाउनलोड करें:आरोग्य सेतु और झारखंड बाजार ऐप

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here