सांसदों ने पीएम से की मुलाकात और कहा- 25 हजार करोड़ देता है झारखंड

0
50

राज्य के सांसदों ने एक बार फिर रेलवे का जोनल ऑफिस रांची में खोले जाने की मांग की है़ सांसद संजय सेठ, अन्नपूर्णा देवी, विद्युतवरण महतो और सुनील सोरेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर इस संबंध में मांग पत्र सौंपा है़ सांसदों ने श्री मोदी से आग्रह किया है कि रेलवे का जोनल ऑफिस रांची में खोला जाये़ सांसदों ने पत्र में कहा है कि रांची में जोनल कार्यालय बनाये जाने की नितांत आवश्यकता है़ झारखंड रेलवे को 25 हजार करोड़ का राजस्व देता है़ वर्तमान में दक्षिण पूर्व रेलवे का जोनल ऑफिस कोलकाता में है़। इसे स्थानांतरित करते हुए रांची लाया जाये़ सांसदों ने प्रधानमंत्री से यह भी कहा है कि पूर्व मध्य रेलवे जोन के अंतर्गत पड़ने वाले धनबाद रेल मंडल को रांची से जोड़ते हुए इसका जोनल ऑफिस बनाया जा सकता है़ राज्य में रेलवे जोनल ऑफिस खुलने से राज्य की जनता को लाभ मिलेगा़ विकास में तेजी आयेगी और आधारभूत संरचनाओं का निर्माण होगा़ सांसदों ने कहा कि झारखंड से सटे राज्य छत्तीसगढ़ और ओड़िशा में जोनल आॅफिस होने से इन राज्यों में बेहतर आधारभूत संरचना का निर्माण हुआ है़ उल्लेखनीय है कि राज्य के सांसदों, मंत्रियों और विधायकों ने पिछले दिनों रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष से मुलाकात कर इससे संबंधित मांग रखी थी़ रेलवे की समस्याओं से अवगत कराया था़ एचइसी को लेकर नीति आयोग की सिफारिश लागू हो : सांसदों ने प्रधानमंत्री से मिल कर एचइसी का भी मामला उठाया़ सांसदों का कहना था कि नीति आयोग ने एचइसी के पुनरुद्धार और आधुनिकीकरण के लिए भारत सरकार के समक्ष रिपोर्ट रखी है.एचइसी को भारी उद्योग विभाग से परमाणु ऊर्जा विभाग में स्थानांतरित करने संबंधित दिशा निर्देश देने की मांग की. सांसद श्री सेठ ने प्रधानमंत्री से कहा कि एचइसी स्थापना काल से ही देश के औद्योगिक विकास में अहम भूमिका निभाते आ रहा है़ विदेशी मुद्रा भंडार की बचत कर रहा है. एचइसी की विश्व में एक अलग पहचान है. एचइसी ने चंद्रयान, पनडुब्बियों के महत्वपूर्ण उपकरण, रक्षा क्षेत्र के उपकरण, गन बैरल, टी-72 टैंक के उपकरण, रेलवे के क्षेत्र में कई मशीनें बनायी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here