यूनिसेफ के सहयोग किया जायेगा ए.ई.एस./ जे.ई रोग से बचाव

0
23

बोधगया के महाबोधि होटल में आयुक्त मगध प्रमंडल गया, पंकज कुमार पाल की अध्यक्षता में ए.ई.एस./ जे.ई रोग से बचाव की तैयारी पर एक कार्यशाला का आयोजन यूनिसेफ के सहयोग से किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन आयुक्त मगध प्रमंडल गया के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। इस अवसर पर आयुक्त मगध प्रमंडल ने कार्यक्रम में उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए सबसे पहले इस तरह के कार्यशाला का आयोजन करने के लिए आयोजक को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि यदि मुजफ्फरपुर एईएस का केंद्र है तो गया जेई का केंद्र है और इसमें आशा वर्कर से लेकर सबसे वरीय चिकित्सक की भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इसमें पीएचसी लेवल से मेडिकल कॉलेज लेवल तक सभी लोगों को अपनी भूमिका का निर्वहन करना होगा। उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण में पाया गया है कि जेई के मामले अधिकतर निर्धन परिवार से आ रहे हैं, जिसमें कुपोषण और हाइपोग्लेसीनीया प्रमुख कारण है। उन्होंने जिलाधिकारी को सभी पीएससी में एंबुलेंस की व्यवस्था रखने का निर्देश दिया साथ ही आईसीडीएस के द्वारा जागरूकता कार्यक्रम सरजमीन पर कराने का निर्देश दिया। स्वच्छता पर लोगों को ध्यान जागरूक करने को कहा। उन्होंने कहा कि आशा वर्कर को घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करने के साथ बीमार बच्चों का भी पता लगाना होगा ताकि समय पर उपचार कराया जा सके। इस संबंध में लोगों को जानकारी देनी होगी। उन्होंने कहा कि जेई टीकाकरण में छूटे हुए बच्चे को पुनः टीकाकरण कर आच्छादित किया जाए साथ ही मच्छर से बचाव के लिए प्रभावित क्षेत्र में फॉगिंग कराया जाए। कोई भी बच्चा रात में भूखा ना सोने पाए, इसे आईसीडीएस को देखना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here