भारतीय वायु सेना हुई और भी मज़बूत देखें नीचें

0
75

नई दिल्ली : फ़िलहाल इन दिनों देशो में २०१९ लोकसभा चुनाव को लेकर माहौल गरम चल रहा है तो वही दूसरी और भारतीय वायु सेना दिन प्रतिदिन खुद को शक्तिशाली बनाने में कड़ी मेहनत के साथ जुटी हुई है आपको बता दे की सबसे बड़ी ख़ुशी की बात यह है की भारतीय वायुसेना को अपना पहला लड़ाकू हेलीकॉप्टर अपाचे गार्जियन मिल चूका है । फ़िलहाल इस हेलीकॉप्टर की ट्रेनिंग के लिये चुने गए एयर और ग्राउंड क्रू की ट्रेनिंग अमेरिकी सेना के अल्बामा एयर बेस पर हो रही है. वायुसेना में अपाचे के आने से हेलीकॉप्टर विंग की ताकत में काफी इज़ाफ़ा होगा. साथ ही साथ आपको यह भी बताते चले की इस लड़ाकू हेलीकाप्टर का निर्माण अमेरिका के एरिजोना में हुआ है।साल 2015 में भारत और अमेरिकी सरकार के बीच एक समझौता हुआ था जिसके तहत भारत ने अमेरिका से 22 ऐसे हेलीकॉप्टर के लिए अनुबंध किया था. इससे पहले वायुसेना को चिकून हैवीलिफ्ट हेलीकॉप्टर भी मिल चुका है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस हेलीकॉप्टर में वायुसेना की ज़रूरत के मुताबिक कई बड़े बदलाव भी किये गये हैं. गौरतलब है कि इस अपाचे हेलीकॉप्टर से कई सटीक हमले किये जा सकते हैं. . बोइंग एएच-64 ई अपाचे को दुनिया का सबसे घातक हेलीकॉप्टर में गिना जाता है. पिछले साल अमेरिका ने भारतीय वायु सेना को छह एएच-64 ई हेलीकॉप्टर देने के समझौते पर हस्ताक्षर किये थे। सूत्रों की मने तो भारतीय वायु सेना इसे चीन और पाकिस्तान की सीमा पर तैनात कर सकती है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here