नयी दिल्ली। सरकारी अस्पतालों में हो रही मौतें का सिलसिला काम ही नहीं हो रहा है , कोटा के जे.के। लोन अस्पताल में अभी भी बच्चो की मौत थमने का नाम नही ले रही हैं वही बीकानेर और जोधपुर से भी घटनाये सामने आ रही हैं ,, कांग्रेस सरकार को जैसे निशाना बनया जा रहे तोह आपको बता दे की गुजरात के राजकोट से भी १६४ बच्चो की मौत की खबर आयी है
कोटा की रिपोर्ट। ….
कोटा से मिली रिपोर्ट के अनुसार वह एसएनसीयू में 104209 बाचे भर्ती हुए थे , वही 10249 बच्छो की मौत हो गयी है ,,रिपोर्ट में आया हैं की बच्चो को ह्य्पोथेरमिआ हो गया है जिस से बच्चो की मौत हो गयी हैं , जाँच में पाया गया की अस्पताल के समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक बच्चों की मौतों के कारण का पता लगाने के लिए गठित समिति ने अपनी रिपोर्ट में पुष्टि की है कि हाइपोथर्मिया के कारण शिशुओं की मौत हुई है. हाइपोथर्मिया एक ऐसी आपात स्थिति होती है, जब शरीर का तापमान 95 एफ (35 डिग्री सेल्सियस) से कम हो जाता है. वैसे शरीर का सामान्य तापमान 98.6 एफ (37 डिग्री सेल्सियस) होता है.जाँच में ये भी आया है की ७७% परितसत वार्मर ख़राब है और सरकार सबकी सुरक्षा का दवा करती हैं

 

कोटा के बाद ,बीकानेर और जोधपुर से आयी बच्चो की मौत का मामला। …

बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में 162 बच्चो की मौत का मामला सामने आया हैं ,और जोधपुर में में भी मौत के मामले सामने आ रहे है \ वैसे जोधपुर की सीट स्वयं अशोक गेहलोत जी की हैं। .
लोकसभा अध्यछ ओम बिरला द्वारा कोटा में परेशान परिवार को आत्मविश्वास और हिम्मत दी है और उन्होंने कहा हैं की वो सभी पीड़ितों को संसद प्रतिनिधि से कुछ राशि भी देंगे

राजनीती ने भी अब तूल पकड़ ली हैं जहा भाजपा कांग्रेस को बैकफुट पर ले आयी है , वही मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत बयानबाज़ी से बच रहे हैं और वो मीडिया को दोषी बना रहे हैं , उनका बयान हैं की मीडिया इस बात को ज्यादा बढ़ा चढ़ा के दिखा रहा हैं जबकि मुख्यमंत्री जी अपनी जिम्मेदारी से खुद भाग रहे है , वही शनिवार को उनके पार्टी और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी निरीक्षण किया और उन्होंने मन की हम अपनी जिम्मेदारी से भाग नहीं सकते हम अपनी गलती माननी पड़ेगी , और उन्होंने कहा की विपक्ष ने काम नहीं किया तोह उसको जनता ने हरा दिया हम विपक्ष को दोषी नहीं कह सकते ,, वही पार्टी के आलाकामन अपनी बैठक पर बैठक लगाए जा रहे है , राजस्थान सरकार और कांग्रेस दोनों बैकफुट पर आ गए है। . कांग्रेस अध्यछ सोनिआ गाँधी ने अहमद पटेल से बात की वही सियासत ने भी हवा ले ली बीजेपी के नेता इस्तीफा की मांग कर रहे , … बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने भी प्रियंका गाँधी पर तंज कैसा और कहा की अब वो कोटा जा कर पीड़ित से क्यों नहीं मिलती ..
हालत ये है की उत्तरप्रदेश में ा भी ऐसी घटना पहले आ चुकी हैं फिर राजस्थान ,अब गुजरात में भी आ रही हैं पर जो जनता के प्रति अपनी वफादारी दिखते हैं शायद वो अपनी राजनीती के अलावा कुछ याद नहीं रखते और ज़िम्मेदारी को भूल जाते हैं जहा ऐसे कितने बच्चो को अपने जीवन को खोना पड़ता हैं अभी तोह उनकी कोमल आँखों ने सही से कुछ देखा ही नहीं था की प्रशासन और सरकारी योजना के दिखवे भरी दुनिया ने उनसे उनका परिवार और ज़िन्दगी चीन ली , और सियासत को बस मौका दे गयी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here