एसटी-एससी अभ्यर्थियों का कट ऑफ मार्क्स घटा

0
48

सरकार ने शिक्षक बहाली में अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के अभ्यर्थियों के लिए कट ऑफ मार्क्स 45 से घटाकर 40% करने का फैसला किया है. वहीं, आदिम जनजाति के सदस्य 38 प्रतिशत अंक लाने पर शिक्षक बन सकेंगे. कार्मिक विभाग की समीक्षा के दौरान शुक्रवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास को बताया गया कि अनुसूचित जनजाति बहुल क्षेत्र लंबे समय तक पिछड़े होने के कारण कट ऑफ के आधार पर इस समुदाय से शिक्षक नहीं मिल पा रहे हैं. अफसरों से चर्चा के बाद मुख्यमंत्री ने शिक्षक बहाली में एससी-एसटी के अभ्यर्थियों के लिए कट ऑफ मार्क्स 45 से घटाकर 40% और आदिम जनजाति के लिए 38% करने का निर्देश दिया.मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिम जनजाति समाज के युवक-युवतियों को नौकरी के लिए विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं में राज्य सरकार द्वारा कट ऑफ मार्क्स में छूट दी जा रही है. अब विभिन्न चयन प्राधिकार की प्रतियोगिता परीक्षा में कट ऑफ मार्क्स 30 प्रतिशत रखने का का निर्णय लिया गया है. मुख्यमंत्री ने लिपिक के पदों के लिए 25 शब्द प्रति मिनट तथा दो प्रतिशत से अधिक गलती न होने की जगह पांच प्रतिशत से अधिक गलती न होने को जोड़ने का निर्देश दिया. आशुलिपिक के लिए शून्य प्रतिशत के बदले दो प्रतिशत से अधिक गलती न होने को जोड़ने के लिए भी कहा. चयनित अभ्यर्थियों को अनिवार्य टाइपिंग प्रशिक्षण देकर दक्ष बनाया जायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here